होमEnglishसाईटमैप

स्वागतम्


चौधरी चरण सिंह राष्ट्रीय पशु स्वास्थ्य संस्थान (आई. एस. ओ. 9001:2015 प्रमाणित संस्थान), मत्स्यपालन, पशुपालन व डेयरी मंत्रालय, पशुपालन व डेयरी विभाग, भारत सरकार के अधीन भारत में पशु चिकित्सा टीकों के गुणवत्ता नियंत्रण के लिए स्थापित एक केंद्रीय औषधि प्रयोगशाला है, जिसको स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा स्वीकृत किया गया है।
चौधरी चरण सिंह राष्ट्रीय पशु स्वास्थ्य संस्थान के पास एक वचनबद्ध वैज्ञानिको का समूह है जोकि पशु चिकित्सा टीकों की गुणवत्ता नियंत्रण परिक्षण के लिए, हितधारकों को भारतीय फार्माकोपिया 2018 व ड्रग्स एंड कॉस्मेटिक एक्ट 1940 परीक्षण प्रोटोकॉल के अनुसार, सर्वोत्तम सेवाएं प्रदान करने के लिए प्रयासरत है।
संस्थान के पास, इन सेवाओं को एक पारदर्शी व समयबद्ध तरीके से अंतिम उपयोगकर्ताओं को वृत्तिक नैतिक, सत्यनिष्ठा व गोपनीयता के साथ प्रदान करने का एक मजबूत आधार है, साथ ही संस्थान वैश्विक मानकों के अनुसार, भारत में मानक, कुशल और सुरक्षित पशु चिकित्सा टीकों के उपयोग से भारतीय उपमहाद्वीप में स्वस्थ व उत्पादक पशुधन विकसित करने के लिए प्रयासरत है।


अधिसूचना

  1. राजपत्र अधिसूचना : राजभाषा नियम 10 के उपनियम (4) के अनुसरण में चौधरी चरण सिंह राष्ट्रीय पशु स्वास्थ्य संस्थान की अधिसूचना
  2. राजपत्र अधिसूचना दिनांक 11-मार्च-2019: स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा चौधरी चरण सिंह राष्ट्रीय पशु स्वास्थ्य संस्थान बागपत को
    केंद्रीय औषधि प्रयोगशाला की मान्यता के सम्बन्ध में।
  3. राजपत्र अधिसूचना दिनांक 05-फरवरी -2019: , पशुपालन, डेयरी और मत्स्यपालन विभाग को पृथक मंत्रालय बनाने के सम्बन्ध में

परिपत्र/कार्यालय के आदेश

  1. सांप्रदायिक सद्भाव अभियान सप्ताह का अवलोकन 19 से 25 नवम्बर 2020 और 25 नवम्बर को झंडा दिवस हेतु
  2. राजभाषा विभाग द्वारा जारी आदेशों के अनुपालन हेतु जाँच बिंदु संबंधी परिपत्र
  3. हिंदी प्रवीणता प्राप्त कर्मचारियों के लिए कार्यालय आदेश
  4. निदेशक सीसीएस नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ एनिमल हेल्थ बागपत के पद के अतिरिक्त प्रभार के बारे में कार्यालय का आदेश
  5. हिंदी के प्रयोग के लिए वर्ष 2020-21 का वार्षिक कार्यक्रम

डाउनलोड :

  1. नागरिक चार्टर सीसीएस एनआईएएच, 2019-20
  2. अधिकारियों और कर्मचारियों की निर्देशिका
  3. एक दिवसीय मंथन कार्यशाला की कार्यवाही
  4. गुणवत्ता नियंत्रण अनुरोध प्रपत्र
  5. वैक्सीन प्राप्त करने के लिए प्रपत्र
  6. अतिथि गृह आवास के लिए प्रपत्र
  7. ग्राहक संतुष्टि मूल्यांकन प्रपत्र
  8. सूचना का अधिकार अधिनियम, 2005
  9. लोक प्राधिकारियों द्वारा आरटीआई अधिनियम की धारा 4 के तहत प्रकटीकरणों की पारदर्शिता ऑडिट
  10. 2018-2019 की वार्षिक रिपोर्ट

अधिक जानकारी के लिए
यहाँ क्लिक करें